दुनिया का सबसे बड़ा मेंढक, शोध में हुआ इस अजूबी प्रजाति को लेकर चौंकाने वाला खुलासा

गोलियथ प्रजाति का मेंढक एक अजूबा है। ये पहली बार नहीं है कि गोलियथ को देखा गया है, ये अनोखी प्रजाति फिर से सुर्खियों में इसलिए है क्योंकि इसपर शोध किया गया है।

नई दिल्ली। बारिश के मौसम में हर आकार के मेंढक देखने को मिलते हैं। आमतौर पर आपने मुश्किल से आधा किलो या एक किलो वजनी मेंढक देखा होगा। लेकिन अफ्रीका में पाया जाने वाला गोलियथ प्रजाति ( goliath ) का मेंढक बेहद खास है। इस मेंढक का वजन तीन किलो से ज़्यादा है।
बर्लिन के नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम द्वारा किए गए शोध में इन मेंढकों के बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। शोध में पता चला है कि ये खास प्रजाति रहने के लिए खुद ही छोटा सा तालाब बनाते हैं।
शोध में ये बात सामने आई है कि तालाब का निर्माण करते समय ये मेंढक दो-दो किलो का वजनी पत्थर भी हटा लेने में सक्षम है।
इन मेंढकों का वजन 3.3 किलो तक और लंबाई 34 सेंटीमीटर यानी 13 इंच तक होती है। अपने बच्चों को बचाने के लिए ये तालाब में झाग बना देते हैं ताकि कोई जानवर बच्चों को नुकसान न पहुंचा सकें।

Next Post

अनुच्छेद 370 हटने के 12 दिन बाद जम्मू-कश्मीर के पांच जिलों में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल

Fri Aug 16 , 2019
कश्मीर घाटी के 17 टेलिफोन एक्सचेंज पर लैंडलाइन सेवा भी शुरू की गई 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के ऐलान से पहले ही जम्मू-कश्मीर में ऐहतियातन टेलीकॉम सेवा रोक दी गई थी जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम ने शुक्रवार को कहा था- टेलीकॉम बैन चरणबद्ध तरीके से हटाया जाएगा श्रीनगर. जम्मू कश्मीर में धीरे-धीरे हालात सामान्य हो रहे हैं। इसे देखते हुए प्रशासन ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने के 12 दिन बाद शनिवार को राज्य के कुछ हिस्सों में 2जी इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दीं। जम्मू, रियासी, सांबा, कठुआ और उधमपुर में इंटरनेट सेवाएं शुरू हो […]
error

Jagruk Janta