ऑस्ट्रेलिया में शुक्रवार से एटीपी कप टूर्नामेंट शुरू; 24 टीमें खेलेंगी, फेडरर को छोड़कर टॉप-10 के 9 खिलाड़ी उतरेंगे

  • स्विट्जरलैंड के वर्ल्ड नंबर-3 फेडरर ने पारिवारिक कारणों से टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया
  • डेविस कप चैम्पियन स्पेन सबसे मजबूत, टूर्नामेंट की प्राइज मनी करीब 110 करोड़ रुपए

शुक्रवार से पहले एटीपी कप के साथ ही टेनिस में एक नया एरा शुरू हो जाएगा। ऑस्ट्रेलिया में होने वाले इस टूर्नामेंट में दुनियाभर की 24 टीमें खेलेंगी। इसमें रोजर फेडरर को छोड़कर टॉप-10 में शामिल बाकी 9 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। स्विट्जरलैंड के वर्ल्ड नंबर-3 फेडरर ने पारिवारिक कारणों से टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया था। टूर्नामेंट की प्राइज मनी 11.6 मिलियन पाउंड (करीब 110 करोड़ रुपए) है। खिलाड़ी इससे 750 रैंकिंग पॉइंट हासिल कर सकते हैं।

40 दिन पहले ही डेविस कप चैम्पियन बनी स्पेन की टीम सबसे मजबूत है। टीम की ओर से नंबर-1 खिलाड़ी राफेल नडाल और नंबर-9 रॉबर्टो बॉतिस्ता एगुट उतर रहे हैं। टीमों को 6 ग्रुप में बांटा गया है। हर टीम तीन राउंड रॉबिन मुकाबले खेलेगी। दो सिंगल्स और एक डबल्स मैच होगा। ये मैच बेस्ट ऑफ थ्री फॉर्मेट में होंगे। हर ग्रुप की विजेता और दो सर्वश्रेष्ठ रनरअप टीमें क्वार्टर फाइनल खेलेंगी। फाइनल 12 जनवरी को खेला जाएगा।

हर देश के टॉप खिलाड़ी क्वालिफाई करते हैं

डेविस कप और एटीपी कप दोनों टीम टूर्नामेंट है। लेकिन दोनों अलग हैं। एटीपी कप के लिए हर देश के टॉप रैंकिंग वाले खिलाड़ी क्वालिफाई करते हैं। उनकी रैंकिंग से देश क्वालिफाई होता है। डेविस कप में टीमों को क्वालिफाई मैच खेलना होता है।

एटीपी कप में हिस्सा लेने वाले टॉप खिलाड़ी

राफेल नडाल (1) स्पेन, नोवाक जोकोविच (2) सर्बिया, डेनियल मेदवेदेव (4) रूस, थिएम (5) ऑस्ट्रिया, सितसिपास (6) यूनान, एलेक्जेंडर ज्वेरेव (7) जर्मनी, मोतेओ बेरेतिनी (8) इटली, रॉबर्टो बॉतिस्ता एगुट (9) स्पेन, मोंफिल्स (10) फ्रांस।

  • एटीपी कप की 24 टीमें
  • ग्रुप ए- सर्बिया, फ्रांस, द. अफ्रीका, चिली।
  • ग्रुप बी- स्पेन, जापान, जॉर्जिया, उरुग्वे।
  • ग्रुप सी- बेल्जियम, ब्रिटेन, बुल्गारिया, मोल्दोवा।
  • ग्रुप डी- रूस, इटली, अमेरिका, नॉर्वे।
  • ग्रुप ई- ऑस्ट्रिया, क्रोएशिया, अर्जेंटीना, पोलैंड।
  • ग्रुप एफ- जर्मनी, यूनान, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया।

Next Post

कोटा / शिशुओं की मृत्यु पर सरकार संवेदनशील है-गहलोत, सोनिया गांधी ने लिया संज्ञान, केन्द्र ने दिया मद का आश्वासन

Thu Jan 2 , 2020
कोटा के एक सरकारी अस्पताल में दिसंबर में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत के पर चौतरफा घिरने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री ने सफाई दी है कि उनकी सरकार बच्चों की मौत पर संवेदनशील है और इस मामले में राजनीति नहीं होनी चाहिए। दूसरी तरफ, राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष ने इस संबंध सभी संभव कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। कोटा के जेके लोन सरकारी अस्पताल में बच्चों की मौत को लेकर गहलोत सरकार लगातार विरोधियों के निशाने पर है। आज सुबह […]

Breaking News

error

Jagruk Janta