अयोध्या के राम मंदिर का हर फैसला एकादशी पर

  • अदालत में फैसले की तारीख के ऐलान से लेकर ट्रस्ट का गठन और बैठक इसी तिथि को हुई
  • 19 फरवरी को राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की पहली बैठक के दिन विजया एकादशी थी
    संतों की राय- 4 अप्रैल को कामदा एकादशी पर मंदिर निर्माण का मुहूर्त किया जाए

नई दिल्ली. राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को राम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रमुख के पाराशरण के घर पर हुई। यह बैठक विजया एकादशी (19 फरवरी) के दिन हुई। यह भी संयोग ही है कि सुप्रीम कोर्ट ने देव प्रबोधिनी एकादशी (8 नवंबर) को राम मंदिर भूमि विवाद पर फैसले की तारीख का ऐलान किया था। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में जया एकादशी (5 फरवरी) को ट्रस्ट के गठन की घोषणा की थी। 15 दिन बाद 6 मार्च को होने वाली ट्रस्ट की अगली बैठक के दिन आमलकी एकादशी होगी।

राम जन्मभूमि न्यास की पहली बैठक में फैसला लिया गया कि राम जन्मभूमि न्यास के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास ट्रस्ट के अध्यक्ष और विश्व हिंदू परिषद के चंपत राय महासचिव होंगे। गुरू पांडुरंग अठावले के शिष्य स्वामी गोविंद देव गिरि कोषाध्यक्ष बनाए गए। मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन पूर्व कैबिनेट सचिव नृपेंद्र मिश्र होंगे। खास बात ये है कि संतों ने राम मंदिर निर्माण के लिए कामदा एकादशी (4 अप्रैल) का मुहूर्त सुझाया है।

राम मंदिर से एकादशी का संबंध:

  • तारीख घटनाक्रम तिथि
  • 8 नवंबर सुप्रीम कोर्ट ने फैसले की तारीख का ऐलान किया देव प्रबोधिनी एकादशी
  • 5 फरवरी प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर ट्रस्ट की घोषणा की जया एकादशी
  • 19 फरवरी राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की पहली बैठक हुई विजया एकादशी
  • 4 अप्रैल संतों ने राम मंदिर निर्माण शुरू करने का मुहूर्त सुझाया कामदा एकादशी
  • 6 मार्च राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की अगली बैठक आमलकी एकादशी

मंदिर निर्माण के लिए चार तारीखों पर विचार

सूत्रों के मुताबिक बैठक में निर्माण शुरू करने के लिए कामदा एकादशी के अलावा तीन और तारीखों पर भी विचार किया गया। पहली तारीख 25 मार्च (चैत्र प्रतिपदा) है, इस दिन हिंदू नववर्ष की शुरुआत होती है। इसके अलावा 2 अप्रैल (रामनवमी) और 8 अप्रैल (हनुमान जयंती) पर भी चर्चा की जा रही है। लेकिन, संतों की तरफ से 4 अप्रैल की एकादशी को ही मंदिर निर्माण का मुहूर्त करने पर जोर दिया जा रहा है।

वैष्णव संप्रदाय के लिए एकादशी बेहद शुभ

रामानंद संप्रदाय समेत सभी वैष्णवों में एकादशी सर्वश्रेष्ठ तिथि मानी जाती है। वैष्णव संप्रदाय को मानने वाले लोग इस दिन को हर नए काम के लिए शुभ मानते हैं। मंदिर निर्माण की प्रक्रिया में शामिल एक संत का कहना है कि हम इसलिए एकादशी के मुहुर्त पर जोर दे रहे हैं, क्योंकि अब तक मंदिर निर्माण संबंधी सभी महत्वपूर्ण घोषणाएं एकादशी को ही हुई हैं।

Next Post

अयोध्या के राम मंदिर को वेटिकन सिटी और मक्का मस्जिद से बड़ा बनाएगा ट्रस्ट

Thu Feb 20 , 2020
वेटिकन सिटी 110 एकड़ में और मक्का मस्जिद 99 एकड़ में है, ट्रस्ट इससे ज्यादा क्षेत्र में राम मंदिर तीर्थ बनाना चाहता है शिलान्यास की तारीख पर 15 दिन बाद होने वाली बैठक में फैसला, 4 अप्रैल यानी एकादशी पर निर्माण शुरू करने पर जोर नई दिल्ली . श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की 15 दिन बाद होने वाली बैठक में राम मंदिर निर्माण की तारीख पर फैसला लिया जाएगा। यह बैठक एकादशी के दिन होनी है। ट्रस्ट चाहता है कि अयोध्या में राम मंदिर क्षेत्र दुनिया के सबसे बड़ा सनातन धर्म केंद्र बने। सूत्रों ने बताया कि ट्रस्ट के […]
error

Jagruk Janta