जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा हूं, बच्चन परिवार को भला-बुरा कहा, इसका अफसोस है- अमर सिंह

  • ट्वीट के अलावा अमर सिंह ने फेसबुक पर एक वीडियो भी पोस्ट किया, इसमें वे काफी कमजोर नजर आए
  • 2012 में एक कार्यक्रम के दौरान जया बच्चन के साथ कहासुनी के बाद बच्चन परिवार और अमर सिंह में दूरियां बढ़ गई थीं

समाजवादी पार्टी के पूर्व महासचिव अमर सिंह ने मंगलवार को अमिताभ बच्चन और उनके परिवार के खिलाफ कही गई बातों के लिए अफसोस जाहिर किया है। अमर सिंह ने ट्विटर पर लिखा, “आज मेरे पिता जी की पुण्यतिथि है और मुझे इसी वजह से अमिताभ बच्चन जी ने मैसेज भेजा। जिंदगी के ऐसे मोड़ पर जब मैं जीवन और मौत के संघर्ष में जूझ रहा हूं, मैं अमितजी और उनके परिवार के प्रति बेवजह की बयानबाजी के लिए खेद प्रकट करता हूं। भगवान उन सबकी रक्षा करे।” 64 साल के अमर सिंह किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं।

अमितजी के मन में न कटुता है और न निराशा- अमर सिंह

अमर सिंह ने ट्वीट के अलावा फेसबुक पर वीडियो भी पोस्ट किया। इसमें उन्होंने कहा- पिछले 10 वर्षों से मैं न सिर्फ बच्चन परिवार से दूर रहा, बल्कि यह भी प्रयत्न किया कि उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो। लेकिन, आज अमिताभ बच्चनजी ने फिर मेरे पिताजी का स्मरण किया तो मुझे ऐसा लगा कि इसी सिंगापुर में 10 साल पहले गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमितजी लगभग 2 महीने तक साथ रहे थे और इसके बाद हमारा और उनका साथ छूट सा गया। 10 साल बीत जाने पर भी उनकी निरंतरता में कोई बाधा नहीं आई और वे लगातार अनेक अवसरों पर, चाहे मेरा जन्मदिन हो या पिताजी के स्वर्गवास का दिन हो.. वे हर दिन का स्मरण कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे हैं। मुझे लगता है कि मैंने अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखाई। 60 से ऊपर जीवन की संध्या होती है। एक बार फिर मैं जिंदगी और मौत की चुनौती के बीच से गुजर रहा हूं। वे मुझसे उम्र में बड़े हैं इसलिए उनके प्रति मुझे नर्मी रखनी चाहिए थी और जो कटुवचन मैंने बोला है, उसके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए। मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न तो कटुता है और न ही निराशा। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि सबको ईश्वर उनके कर्मों के अनुसार यथोचित न्याय दे। हमें सब ईश्वर पर छोड़ना चाहिए बजाय इसके कि हम उसके काम में खुद दखल दें। अमितजी बहुत-बहुत धन्यवाद।

जया बच्चन के साथ अमर की कहासुनी के बाद आईं थीं दूरियां

अमर सिंह के मुताबिक, 2012 में अनिल अंबानी की पार्टी में हुई जया बच्चन संग कहासुनी के बाद से दोनों परिवारों में दूरियां आ गईं। अमर सिंह ने कहा था, “अमिताभ ने उस झगड़े में अपनी पत्नी का साथ दिया था। तभी से हमारे बीच दूरियां बढ़ गईं।”

बच्चन परिवार पर लगा चुके कई आरोप

कभी बच्चन परिवार के काफी करीबी रहे अमर सिंह 2012 से इस परिवार से काफी दूर हो गए। एक म्यूजिक एल्बम की लॉन्चिंग पर अमर सिंह ने कहा था, “अमिताभ बच्चन एक ऐसे एक्टर हैं जो कई क्रिमिनल केसों में लिप्त हैं। पनामा पेपर्स विवाद में भी उनका नाम आ चुका है।” एक अन्य कार्यक्रम के दौरान अमर सिंह ने कहा था, “ऐश्वर्या मेरी बहुत इज्जत करती है। अभिषेक ने भी आज तक मेरे खिलाफ कुछ नहीं कहा। मुझे अमिताभ बच्चन से भी कोई गिला नहीं है। उन्होंने खुद मुझे चेतावनी दी थी कि मैं जया बच्चन को पॉलिटिकल फील्ड में न उतारूं। मैंने ही उनकी भली सलाह नहीं मानी।”

Next Post

मुंबई हमला / पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया का दावा- आईएसआई आतंकी कसाब को हिंदू के रूप में मारना चाहती थी, दाऊद गैंग को सुपारी दी थी

Tue Feb 18 , 2020
मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने अपनी किताब ‘लेट मी से इट नाउ’ में यह खुलासा किया मारिया ने लिखा- लश्कर 26/11 मुंबई हमले को ‘हिंदू आतंकवाद’ के तौर पर प्रोजेक्ट करना चाहता था मुंबई. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) मुंबई हमले के दोषी मोहम्मद अजमल आमिर कसाब को एक हिंदू के तौर पर मारना चाहती थी। यह खुलासा मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने अपनी किताब ‘लेट मी से इट नाउ’ में किया है। उनके मुताबिक, कसाब को बेंगलुरु निवासी समीर दिनेश चौधरी का आईडी कार्ड मुहैया कराया गया था और उसकी […]

You May Like

Breaking News

error

Jagruk Janta