आधा झुंझुनूं घरों में कैद, सड़कें सूनी

कर्फ्यू लगने के बाद आधा झुंझुनूं घरों में कैद, सड़कें सूनी, जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात

झुंझुनूं। कर्फ्यू लगने के बाद आधा शहर घरों में कैद हो गया है। कोई भी घर से बाहर नहीं निकल रहे। जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात हैं। अनेक वाहनों से प्रशासन के अधिकारी लगातार माइक पर मुनादी कर रहे हैं। प्रभावित क्षेत्र के एक किलोमीटर दायरे में चप्पे चप्पे पर पुलिस व आरएसी के जवान तैनात हैं। किसी को घर से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा।

परीक्षा समय पर होगी

बोर्ड के कई परीक्षा सेंटर कर्फ्यू वाले क्षेत्र में है। प्रशासन ने विद्यार्थियों को छूट दे दी है। उनके प्रवेश पत्र को ही अनुमति पत्र माना गया है। विद्यार्थियों को कोई परेशानी नहीं हो इसके लिए सुबह 8 बजे से अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी कमलेश कुमार तेतरवाल को कर्नल जेपी जानू राजकीय स्कूल में तैनात कर रखा है।

शुरू हुआ सर्वे
कलक्टर यूडी खान ने बताया कि गुढा मोड व दो नंबर रोड पर चिकित्सा विभाग की सौ टीम सुबह से ही सर्वे में लग गई है। वे घर-घर जाकर सर्वे कर रही है। आस-पास के क्षेत्र में टीम ने पहुंचकर जांच की है। इटली से आए इस परिवार से जो भी मिला है, उनकी भी जांच की जा रही है। वहीं परिवार से सम्पर्क में आने वाले करीब डेढ दर्जन लोगों को चुडेला गांव में बनाए गए विशेष वार्ड में भर्ती करवाया गया है।

यह रहा रूट चार्ट
-8 मार्च को इटली से दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरे
-दिल्ली में स्क्रीनिंग की गई, लेकिन वहां कोई खास लक्षण नहीं मिले।
-8 मार्च को सड़क मार्ग से झुंंझुनूं पहुंचे।

  • विदेश से आने के कारण निगरानी में लिया गया।
    -होमआइसोलेशन में रखा गया।
    -16 को हल्का बुखार व खांसी आई।
    -17 को राजकीय भगवान दास खेतान अस्पताल में भर्ती करवाया गया।
    -17 को ही तीनों के नमूने लिए गए। जयपुर भेजे गए।
  • 18 को शाम सात बजे कलक्टर के पास रिपोर्ट आई।
  • रिपोर्ट में तीनों पोजीटिव मिले।
  • परिवार के 17 सदस्यों को रात 9 बजे चुड़ेला स्थित विशेष वार्ड में भेजा
  • रात 10.15 मिनट पर कफ्र्यू लगाया।
    -पूरे जिले में धारा 144 लगी
  • 100 विशेष टीमों का गठन
  • झुंझुनूं में परीक्षा के बाद बच्चों की स्क्रीनिंग होगी।

बस स्टेण्ड भी सूना
कोरोना वायरस के कहर के चलते गुरुवार से रोडवेज बसें बस स्टैंड पर नहीं आ रही। इनका संचालन पीरूसिंह सर्किल व पंचदेव मंदिर से किया जा रहा है। मुख्य प्रबंधक वासुदेव शर्मा ने बताया कि कलक्टर के आदेश के बाद गुरुवार से रोडवेज की बसें पीरूसिंह सर्किल व पंचदेव मंदिर के पास से संचालित हो रही हैं।

यहां लगा रहा कर्फ्यू
झुंझुनूं
-बीडीके अस्पताल
-राजपूत छात्रावास
-मुख्य डाकघर
-रोडवेज बस डिपो
-इंदिरा नगर
-मदीना मस्जिद
-मोहल्ला काजीवाड़ा
-प्रभात टाकीज
-रोड नंबर तीन रेलवे लाइन तक
-इंडियन पब्लिक स्कूल
-बाकरा रोड
-कलक्ट्रेट
-नगर परिषद
-सर्किट हाउस
-राजस्थान पत्रिका कार्यालय
-तहसील झुंझनूं
-न्यू कॉलोनी, मोदी स्कूल
-राजकीय आवास

  • मोरारका कॉलेज
    -पीरू सिंह, जेपी जानू, स्कूल
    -वाल्मीकि बस्ती
    -नागरपुरा
    -गुढा रोड रेलवे फाटक
    -रिलायंस पेट्रोल पम्प
    -जीलाल पेट्रोल पम्प

आदेश 20 मार्च को रात 12 बजे तक प्रभावी रहेंगे

झुंझुनूं में यह होगा कर्फ्यू के दौरान

-कोई भी व्यक्ति घर से बाहर नहीं निकलें
-समस्त व्यवसायिक, औद्योगिक, शिक्षण संस्थान व जिम बंद रहेंगे।
-शादी, रैली, जुलूस, सभा पर रोक।
-सार्वजनिक व निजी परिवहन पर प्रतिबंध।
-बोर्ड परीक्षा में शामिल विद्यार्थियों को छूट रहेगी।
-गंभीर मरीजों व आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों पर लागू नहीं होगा।
-चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों व कानून व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन व जयपुर की विशेष टीम झंंझंनूं पहुंची
शहर में कोरोना पोजीटिव मिले एक ही परिवार के तीन सदस्यों की जांच के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) व जयपुर सेे विशेष टीम झुंझुनूं पहुंच गई है। वे कुछ ही देर में राजकीय भगवान दास खेतान अस्पताल (बीडीके) में पहुंचेंगे। तीनों मरीज अभी यहीं भर्ती हैं। जबकि उनके सम्पर्क में आने वाले करीब डेढ दर्जन से अधिक व्यक्तियों को चुडेला में जेजेटी विश्वविद्यालय में बनाए गए विशेष वार्ड में भर्ती करवाया गया है। बीडीके अस्पताल के पीएमओ डॉ शुभकरण सिंह कालेर ने बताया कि तीनों मरीज अभी यहीं भर्ती हैं। तीनों का निर्धारत गाइड लाइन के अनुसार उपचार किया जा रहा है। तीनों की हालत सही है।

Next Post

खाटूश्यामजी के दर्शन बंद, विश्वविद्यालय की परीक्षा पर भी लगी रोक

Thu Mar 19 , 2020
कोरोना वायरस के कहर के बीच राजस्थान के विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल खाटूश्यामजी के पट भी बंद कर दिए गए हैं। सीकर. कोरोना वायरस के कहर के बीच राजस्थान के विश्व प्रसिद्ध तीर्थ स्थल खाटूश्यामजी (Khatushyamji) के पट भी बंद कर दिए गए हैं। 31 मार्च तक अब श्रद्धालु बाबा श्याम के दर्शन नहीं कर सकेंगे। खाटूश्यामजी में श्रद्धालुओं की लगातार जारी भीड़ की वजह से श्याम मंदिर कमेटी ने यह फैसला लिया है। इधर, पंडित दीन दयाल उपाध्याय शेखावाटी विश्वविद्यालय (Shekhawai university) ने भी अपनी सभी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया है। विश्वविद्यालय की गुरुवार दो बजे बाद से […]

Breaking News

error

Jagruk Janta