जनता कर्फ्यू / शनिवार रात्रि 12 बजे से रविवार रात 10 बजे तक 22 घंटे के लिए 2400 ट्रेनें नहीं चलेंगी, दिल्ली-बेंगलुरु में मेट्रो और हरियाणा में बसें बंद रहेंगी

  • कोरोनायरस से निपटने के लिए मोदी ने 22 मार्च को सुबह 7 से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी
  • जनता कर्फ्यू के दौरान करीब 2400 यात्री ट्रेनें नहीं चलेंगी, इनमें पैसेंजर, मेल-एक्सप्रेस और उपनगरीय ट्रेनें शामिल
  • संक्रमण रोकने के लिए आईआरसीटीसी ने भी फूड प्लाजा, जन आहार केंद्र और सेल किचन बंद करने की घोषणा की

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया गया है। इसके मद्देनजर शनिवार की रात 12 बजे से रविवार की रात 10 बजे तक कोई भी पैसेंजर ट्रेनें नहीं चलेगी। सूत्रों के मुताबिक, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें भी सुबह 4 बजे रोक दी जाएंगी। इसके साथ ही उपनगरीय (लोकल) ट्रेन सेवाओं को घटाकर न्यूनतम स्तर पर लाया जाएगा। रेल अधिकारियों के मुताबिक, जनता कर्फ्यू के दौरान कुल 2400 यात्री ट्रेनें नहीं चलेंगी। इनमें 1300 मेल एक्सप्रेस गाड़ियां, पैसेंजर ट्रेनें और बड़ी संख्या में उपनगरीय ट्रेनें शामिल हैं।

कोरोनावायरस के मद्देनजर, गैर जरूरी यात्रा टालने के लिए रेलवे पहले ही 245 यात्री गाड़ियां रद्द कर चुका है। मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में ऑन बोर्ड कैटरिंग सर्विस को भी अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईआरसीटीसी) की ओर से बताया गया कि संक्रमण रोकने के लिए उसके द्वारा संचालित फूड प्लाजा, जन आहार केंद्र और सेल किचन भी बंद करने का फैसला किया गया है।

दिल्ली-बेंगलुरु में मेट्रो और हरियाणा में बसें बंद रहेंगी

22 मार्च को जनता कर्फ्यू के दिन दिल्ली में मेट्रो सेवाएं बंद रहेंगी। दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमरसी) की ओर से ट्वीट कर बताया गया कि यह कदम लोगों को घर पर रुकने और भीड़ में दूरी बनाने के लिए किया गया है। वहीं, रविवार को हरियाणा में बस सर्विस भी बंद रहेगी।

मोदी ने रविवार को जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की

देश में कोरोनायरस के बढ़ते मामलों और गंभीर होते हालात के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने गुरुवार को देश को संबोधित किया था। उन्होंने रविवार यानी 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की। यह जनता के लिए, जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू होगा। उन्होंने कहा कि इस 14 घंटे के दौरान कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर न निकले। शाम 5 बजे अपने-अपने घरों में से ही ताली बजाकर, थाली बजाकर, घंटी बजाकर एकदूसरे का आभार जताएं और इस वायरस से लड़ने के लिए एकजुटता दिखाएं।

बुजुर्गों से घर के अंदर ही रहने की सलाह दी

प्रधानमंत्री मोदी ने सामाजिक तौर पर दूरी बनाए रखने की बात पर जोर देते हुए कहा था कि हर देशवासी अगले कुछ हफ्तों तक बहुत जरूरी न होने पर बाहर जाने से बचे। 60 से 65 साल या उससे ज्यादा उम्र के बुजुर्ग घर में ही रहें। उन्होंने एनसीसी, खेल संगठन और सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों से भी इसके लिए जागरुकता लाने की अपील भी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

श्रीजी मंदिर में 31 मार्च तक प्रवेश बंद, गिरिराज जी की परिक्रमा पर भी रोक लगी

Sat Mar 21 , 2020
दर्शन व्यवस्था काे लेकर तीन दिन में तीसरी बार फैसला बदला गया डीग परिक्षेत्र के 1200 मीटर के परिक्रमा मार्ग के तीनों बार्डर रास्तों को सील नाथद्वारा/डीग/पोकरण. काेराेना से सतर्कता काे लेकर पुष्टिमार्गीय मत की प्रधानपीठ श्रीजी की हवेली और तृतीय पीठ कांकराेली में प्रभु द्वारकाधीश मंदिर में शुक्रवार से आठाें झांकियाें के दर्शन में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर 31 मार्च तक राेक लगा दी है। दर्शन व्यवस्था काे लेकर तीन दिन में तीसरी बार फैसला बदला गया है। वहीं, गिरिराज जी सप्तकोसीय परिक्रमा मार्ग स्थित डीग परिक्षेत्र के 12 सौ मीटर के एरिया पूंछरी परिक्रमा मार्ग के तीनों बार्डर […]

Breaking News

error

Jagruk Janta