सुधि पाठकों के साथ जागरूक जनता के 5 वर्ष

शिव दयाल मिश्रा
जब किसी के घर में शिशु का जन्म होता है तो बड़ी ही खुशी होती है और पूरे घर में एक प्रकार का आनन्दोत्सव मनाया जाता है। ठीक इसी प्रकार 5 वर्ष पूर्व जागरूक जनता नाम के समाचार पत्र का जन्म हुआ। जिस प्रकार बच्चे के जन्म से पूर्व जो उधेड़बुन परिजनों के दिमाग में चलती है ठीक वैसे ही इस अखबार के प्रकाशन की उधेड़बुन दिमाग में चली। लग रहा था कि कैसे चलेगा। कहां से व्यवस्था होगी। क्योंकि किसी भी कार्य को आगे बढ़ाने के लिए आर्थिक व्यवस्था पहले देखनी होती है। मगर ईश्वर का नाम लेकर इसके प्रकाशन की प्रक्रिया को पूरा करने में लग गए। प्रकाशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद इसके सम्पादक मंडल और प्रबंधन टीम ने 8 मार्च 2015 को इसका प्रकाशन प्रारंभ कर दिया। प्रथम अंक बड़े उत्साह के साथ निकाला गया। फिर तो एक के बाद एक अंक निकलते चले गए। और सुधि पाठकों के लिए अच्छी सामग्री प्रस्तुत करने का ध्येय लिए आगे बढ़ते रहे। निष्पक्ष रूप से खबरों का संकलन कर पाठकों तक पहुंचाया जाता रहा। और पाठकों का प्रेम और हमारी मार्केटिंग टीम के आमजन से जुड़ाव के चलते मुश्किलें आसान होती चली गई। क्योंकि इस समय समाचार-पत्र और सोशल मीडिया के चलते किसी नए अखबार को अपनी जगह बनाना आसान काम नहीं रह गया है। इन सबके बीच आज जागरूक जनता शैशव अवस्था से बाहर निकलकर ठुमक-ठुमक कर चलने लगा है। यह भी एक संयोग ही कहा जाएगा कि जिस दिन जागरूक जनता पत्र का प्रकाशन प्रारंभ किया गया उस दिन अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए पाठकों से रूबरू होने और महिला शक्ति के सम्मान को ध्यान में रखते हुए ‘जागरूक वुमन अवार्डÓ कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए इस बार भी यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का सम्मान किया जाता है। इस कॉलम के माध्यम से मैं हमारे पाठकों के प्रति आभार व्यक्त करना चाहता हूं कि यह अखबार आपके विचारों, देश, राज्य एवं समाज में होने वाली गतिविधियों को निष्पक्ष रूप से आपके समक्ष प्रस्तुत करता रहे।
shivdayalmishra@gmail.com

Next Post

दक्षिण अफ्रीका 4 साल बाद वनडे के लिए भारत दौरे पर, टीम इंडिया के पास साल की तीसरी और आखिरी सीरीज जीतने का मौका

Wed Mar 11 , 2020
पिछली बार दक्षिण अफ्रीका ने भारत को उसी के घर में वनडे सीरीज में 3-2 से हराया था भारत ने जनवरी में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया, जबकि न्यूजीलैंड ने उसे फरवरी में 3-0 से शिकस्त दी सीरीज का पहला वनडे 12 मार्च को धर्मशाला, 15 को लखनऊ और 18 मार्च को कोलकाता में होगा दक्षिण अफ्रीका नए कप्तान क्विंटन डीकॉक और कोच मार्क बाउचर के साथ 4 साल बाद वनडे सीरीज के लिए भारत आ रही है। यहां दोनों देशों के बीच 3 मैचों की सीरीज खेली जानी है। टीम इंडिया के पास साल की तीसरी और आखिरी सीरीज […]
error

Jagruk Janta