अगर खोजना ही है तो फिर आरोग्य के जीवाणु खोजो!

Advertisements

शिव दयाल मिश्रा
कोरोना
महामारी के चलते विश्व पहले से ही जीवन-मृत्यु के बीच झूल रहा है। पता नहीं कब किसको कोरोना हो जाए। अगर जांच भी कराई जाती है तो क्या गारंटी है कि वह अब कोरोना पोजीटिव नहीं होगा। जांच के बाद अस्पताल से निकलते ही दुबारा कोरोना हो जाए तो आप क्या कर लोगे। इसलिए हर कोई कोरोना से लड़ते हुए सावधानी बरत रहा है। मगर इन परिस्थितियों के बीच विश्व के सामने एक और खतरा उत्पन्न हो गया है। दुनिया में कई देशों के बीच युद्ध के हालात बने हुए दिखाई दे रहे हैं। हालांकि विश्व के बड़े-बड़े देश इस परिस्थिति से निबटने के लिए शांति प्रयासों में जुटे हुए हैं। लेकिन सोचने की बात यह है कि इस दुनिया में विध्वंसक हथियार क्यों बनाए जा रहे हैं। क्यों नहीं यह दुनिया ऐसे रसायन, जैविक और अन्य प्रकार के पदार्थों का निर्माण करती है जिससे आदमी स्वस्थ और दीर्घायु हो। विध्वंसात्मक हथियारों पर दुनियां अरबों खरबों का बजट हर वर्ष खर्च करती है जिससे मनुष्य का अस्तित्व ही खतरे में पड़ रहा है। होना तो यह चाहिए कि दुुनिया में ऐसा कुछ खोजा जाए जिससे इन विध्वंसात्मक हथियारों का कोई असर ही नहीं हो। और जो देश विध्वंस की सोच रखते हैं वे अपने लक्ष्य में विफल हो जाएं। अगर वैज्ञानिक चाहें तो ऐसा कर सकते हैं मगर इसके लिए राष्ट्राध्यक्षों की इच्छाशक्ति होनी चाहिए तभी दुनिया में शांति स्थापित हो सकती है। वरना तो यूं ही विध्वंस की छाया में मनुष्य का अस्तित्व खतरे में पड़ा रहेगा। इस समय जो कोरोना वायरस दुनिया में फैला हुआ है उससे पूरी दुनिया में दहशत व्याप्त हो गई है। लोग डर-डर के जी रहे हैं। जिस तरह कोरोना वायरस का निर्माण विनाश के लिए किया गया। उसी प्रकार कोई ऐसा वायरस खोजना चाहिए जो इस प्रकार के विनाशकारी वायरसों को ध्वस्त कर सके। क्योंकि जब विनाश के वायरस हो सकते हैं तो फिर इसके विपरीत बचाव के भी बनाए जा सकते हैं। हमारी सनातन संस्कृति में तो ‘वसुधैव कुटुम्बकम्Ó की अवधारणा रही है और आज भी यही है। इसी को आगे बढ़ाने से विश्व में शांति स्थापित हो सकती है। इसी मूल मंत्र से देश-दुनिया में शांति व्याप्त होगी। इसके अतिरिक्त और कोई चारा दुनिया में शांति स्थापित करने का नजर नहीं आता।
shivdayalmishra@gmail.com

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Next Post

रिया को नहीं मिली बेल, अब 14 दिन की जेल

Wed Sep 9 , 2020
रिया ने सुशांत के लिए ड्रग्स खरीदने की बात कबूली, नारकोटिक्स ब्यूरो की पूछताछ के दौरान यही कबूलनामा गिरफ्तारी की वजह बना एनसीबी ने 3 दिन में रिया से करीब 20 घंटे पूछताछ की थी, सोमवार को एक्ट्रेस के भाई शोविक को भी सामने बैठाया था रिया ने सुशांत की बहन प्रियंका के खिलाफ एफआईआर करवाई, सुशांत को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया मुंबई। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के 84 दिन बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मंगलवार को सुशांत की गर्लफ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स केस में गिरफ्तार कर लिया। मेडिकल के बाद चीफ मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के सामने रिया को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया गया। यहां एनसीबी ने साफ कहा कि वह रिया की रिमांड नहीं चाहती है, लेकिन उनकी जमानत नहीं […]

Jagruk Breaking