खूब लड़ी मर्दानी वह तो..!

Advertisements

शिव दयाल मिश्रा
1857
के स्वतंत्रता संग्राम में बड़े-बड़े क्रांतिकारी शामिल थे। अंग्रेजों की लड़ाई में बहुत से राजघरानों के राजा-महाराजाओं ने हिस्सा लिया और अंग्रेजों के खिलाफ संग्राम छेड़ दिया। हालांकि कुछ लोग राजनीति से प्रेरित होकर अथवा अनजाने में उस संग्राम को गदर कह देते हैं। मगर गदर और स्वतंत्रता संग्राम में बहुत बड़ा अंतर है। खैर यह एक अलग विषय है। 1857 के संग्राम में झांसी की महारानी लक्ष्मी बाई भी अंग्रेजों के खिलाफ खूब लड़ी थी। झांसी के किले में आज भी उनकी याद बिखरी पड़ी है। उनका निजी निवास, किले की जिस बुर्ज से वे कूद कर निकल गई थी, वह सब उनके संग्राम और वीरता की कहानी कह रहे हैं। लक्ष्मीबाई नाम के साथ ईश्वर ने विधान ही कुछ ऐसा लिखा जिससे पहले स्वयं लक्ष्मी बाई बचपन से ही रूबरू होती रही तो अब फिल्मों में लक्ष्मीबाई के पात्र को जीवंत करने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत के साथ भी कुछ ऐसा ही दिखाई देने लगा है।
कंगना रनौत के दफ्तर में जो कुछ मुंबई में घटित हुआ जिसे संचार साधनों के माध्यम से सबने देखा और सुना। अगर गौर से देखें तो उस समय लक्ष्मीबाई का अंग्रेजों के शासन से घमासान हो गया और आज लक्ष्मीबाई का फिल्मी किरदार निभाने वाली एक अभिनेत्री का भी शासन से घमासान मचा हुआ है। उस समय लक्ष्मीबाई के साथ कई और भी स्वतंत्रता संग्राम के लड़ाके थे। और आज भी अभिनेत्री के साथ कई प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हुए हैं। लक्ष्मीबाई ने अपने संग्राम में अकेले ही लड़ते हुए अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे। हालांकि उन्होंने उस समय अपनी सहायता के लिए उस समय के राजाओं से सहायता भी मांगी थी, मगर समय के साथ सबके अपने निहित स्वार्थ होते हैं। उस समय किसी ने उनकी सहायता की और किसी ने नहीं की। वैसा ही दृश्य आज भी अभिनेत्री के साथ नजर आ रहा है। अंत में अकेली लक्ष्मी बाई जिस प्रकार युद्ध करते हुए एक मंदिर पहुंची और वहां उन्होंने स्वयं महाप्रयाण कर लिया मगर अंग्रेजों के हाथ नहीं लगी। अब देखना यह है कि मुंबई में जो कुछ भी अभिनेत्री के कार्यालय का जिसे वे मंदिर मानती हैं, का हस्र हुआ है उसकी परिणिती क्या होगी। यह भविष्य के गर्भ में छुपा हुआ है। क्योंकि लक्ष्मीबाई का नाम ही संघर्षों से जुड़ा हुआ है।
shivdayalmishra@gmail.com

Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements
Advertisements

Next Post

Jagruk Janta 16-22 Sept 2020

Wed Sep 16 , 2020

Jagruk Breaking