दीपिका का इमोशनल कार्ड: एनसीबी के सामने पूछताछ के दौरान तीन बार रोईं पादुकोण, अधिकारियों ने हाथ जोड़कर कहा- सच बताएंगी तो बेहतर होगा

Advertisements
Advertisements
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, एनसीबी के अधिकारियों ने दीपिका को इमोशनल कार्ड न खेलने की नसीहत दी थी
  • दीपिका ने पूछताछ के दौरान ड्रग्स चैट की बात स्वीकार की, लेकिन खुद ड्रग्स लेने की बात से इनकार किया

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को दीपिका पादुकोण से करीब 6 घंटे तक पूछताछ की। रिपोर्ट्स की मानें तो सवाल-जवाब के दौरान दीपिका एक बार नहीं, बल्कि तीन बार रो पड़ी थीं। बताया जा रहा है कि इस दौरान एनसीबी के अधिकारियों ने उन्हें इमोशनल कार्ड न खेलने की नसीहत दी थी। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, दीपिका की आंखों में आंसू देख एनसीबी के अधिकारियों ने उनके हाथ जोड़ लिए। साथ ही कहा कि इमोशनल कार्ड खेलने की बजाय वे सबकुछ सच-सच बताती हैं, तो उनके लिए बेहतर होगा।

Advertisements

दीपिका ने मानी ड्रग्स चैट की बात

रिपोर्ट्स के मुताबिक, एनसीबी की पूछताछ में दीपिका पादुकोण ने ड्रग्स चैट करने की बात स्वीकार की। हालांकि, उन्होंने ड्रग्स लेने की बात से इनकार किया। दीपिका ने एनसीबी को बताया कि उनका पूरा ग्रुप डूप लेता है, जो कि सिगरेट है। इसमें कई नशीली चीजें होती हैं।

रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि एनसीबी ने जब दीपिका से चैट में इस्तेमाल हुए वीड और हशीश शब्दों के बारे में पूछा तो उन्होंने स्पष्ट जवाब नहीं दिया। जब उनसे पूछा गया कि वो जो डूप लेती हैं, क्या उसमें ड्रग्स भी होती है तो एक्ट्रेस ने चुप्पी साध ली। एक्ट्रेस के कई जवाबों से एनसीबी के अधिकारी संतुष्ट नहीं हुए।

दीपिका के दो फोन जब्त किए गए

सूत्रों के मुताबिक, शनिवार को दीपिका के एनसीबी दफ्तर पहुंचने के बाद अधिकारियों ने सबसे पहले उन्हें आरोपों के बारे में बताया। डेटा का बैकअप लेने के लिए उनके 2 मोबाइल फोन ले लिए गए। उनसे कहा गया कि इस मामले में किसी संदिग्ध या आरोपी से बात नहीं करेंगी। उसके बाद एक अंडरटेकिंग पर साइन करवाए गए। उनसे कहा गया कि 3 फेज में पूछताछ की जाएगी, इसके लिए 3-4 राउंड हो सकते हैं।

दीपिका का नाम ड्रग्स मामले में कैसे आया?

सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस से जुड़े ड्रग्स मामले की जांच कर रही एनसीबी के हाथ तीन साल पुरानी वॉट्सऐप ग्रुप चैट लगी थी। 28 अक्टूबर 2017 को हुई इस चैट में दीपिका, उनकी मैनेजर करिश्मा प्रकाश और सुशांत की टैलेंट मैनेजर जया साहा के बीच ड्रग्स को लेकर हुई बातचीत हुई थी। चैट में दीपिका ने ‘हैश’ और ‘वीड’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते हुए करिश्मा से पूछा था कि माल है क्या? इसके बाद दीपिका और करिश्मा को समन भेजा गया था। करिश्मा ने एनसीबी को बताया था कि इस वॉट्सऐप ग्रुप की एडमिन खुद दीपिका थीं।

कोर्ट में पेश किए जाएंगे स्टेटमेंट

शनिवार को एनसीबी ने दीपिका के अलावा सारा अली खान और श्रद्धा कपूर से भी पूछताछ की। इससे एक दिन पहले एजेंसी के सामने रकुल प्रीत सिंह की पेशी हुई थी। एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर एमए जैन का कहना है कि पूछताछ के दौरान उन्होंने जितने भी स्टेटमेंट रिकॉर्ड किए हैं, वो कोर्ट में सबमिट किए जाएंगे। जैन के मुताबिक, ड्रग्स एंगल में अब तक 18-19 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

दीपिका ने इंटरव्यू में बताया था कि रणबीर कपूर से ब्रेकअप के बाद वे बुरी तरह टूट गई थीं। उनका रो-रोकर बुरा हाल हो गया था। यहां तक कि वे डिप्रेशन में भी चली गई थीं। दीपिका ने यह भी कहा था कि अकेलेपन से बचने के लिए उन्होंने खुद को पूरी तरह काम में बिजी रखा।

बकौल दीपिका, “रिश्ता टूटने के बाद मुझे अहसास हुआ कि मुझे किसी भी इंसान के साथ इतना अटैच्ड नहीं होना चाहिए। ब्रेकअप के बाद मैं बहुत रोई। लेकिन मैं एक अच्छी इंसान बन गई, इसके लिए उसे शुक्रिया।”

Advertisements
Advertisements

Next Post

श्याम शर्मा के निधन पर मीडियाकर्मियों ने दी पुष्पांजलि

Sun Sep 27 , 2020
बीकानेर। वरिष्ठ पत्रकार एवं डीआईपीआर मुख्यमंत्री कार्यालय में कंसल्टेंट श्याम शर्मा के निधन पर यहां मीडियाकर्मियों ने उन्हे पुष्पांजलि अर्पित की। गांधी पार्क मे ं महात्मा गांधी प्रतिमा स्थल पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में पत्रकार और छायाकारों ने स्वर्गीय श्याम शर्मा के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया।कोरोना काल में नियमों का निर्वहन करते हुए समुचित दूरी बनाए हुए मौन खडे हो कर श्रद्धांजलि दी। पुष्पांजलि अर्पित करने वालों में वरिष्ठ पत्रकार संतोष जैन, रमेश महर्षि, दिलीप भाटी, हेम शर्मा, दीपचन्द सांखला, शिवचरण शर्मा, पन्नालाल नागल, मोहन थानवी, अनुराग हर्ष, जय नारायण बिस्सा, बी जी बिस्सा. मनीष पारीक, धर्मेंद्र अग्रवाल, ओमप्रकाश सोनी, जयदीप सिंह, दिनेश गुप्ता, नौशाद अली, श्याम मारु, गिरिराज भादानी, महेंद्र मेहरा, बृजमोहन आचार्य, राजेश रतन मौहम्मद अली पठान, व्यास .राजेन्द्र भार्गव तथा जितेन्द्र नागल आदि शामिल थे।

Other Stories

Jagruk Breaking