FLASH NEWS
FLASH NEWS
Thursday, December 03, 2020

मुस्लिम महासभा ने उर्दु पैराटिचर्स एवं उर्दु बचाओं के समर्थन मे राष्ट्रीय सचिव एन.डी.कादरी के नेर्तत्व मे मंख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया

Advertisements
Advertisements

Advertisements
Advertisements

बीकानेर@जागरूक जनता । शुक्रवार को मुस्लिम महासभा के राष्ट्रीय सचिव एन.डी.कादारी ने उर्दु पैराटिचर्स एवं उर्दु बचाओं के समर्थन मे जिला कलेक्टर, बीकानेर के माध्यम से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को निम्न मांगो का ज्ञापन सौंपा एवं जिला अध्यक्ष यशपाल गहलोत को भी ज्ञापन दिया।

(1)समस्त पैराटिचर्स को पूर्व की भांती प्रबोधक बनाकर नियमित किया जावे।
(2) भविष्य मे मदरसों में विभिन्न संवर्गो के कार्मिको की भर्ती के लिये सेवा नियम बनाकर नियमित भर्ती की जावे।
(3)शिक्षा निदेशालय बीकानेर का 13.12.2004 (अल्प भाषा उर्दु, सिन्धी, गुजराती, पंजाबी से सम्बंध) का आदेश का सत प्रतिशत लागु किया जावे।
(4) प्रारम्भिक एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग के स्टाफिंग पैर्टन के नियम में संशोधन कर प्रस्तावित रिट भर्ती मे उर्दु के लेवल प्रथम के 5000 और लेवल द्वितीय के 5000 पदो पर तत्काल भर्ती करके विधालय के शिक्षण प्रारम्भ किया जावे।
(5)उर्दु शिक्षा निदेशालय की स्थापन की जावे।
(6) सभी काॅलेजो मे उर्दु व्याख्याता का पद सृजित किया जावे तथा सभी राजकीय विवेकानन्द माॅडल स्कूल और महात्मा गांधी इग्लिस मिडियम स्कूल जो सरकार के द्वारा संचालित होते है मे भी उर्दु शिक्षा लागू की जावे। (7) कांग्रेस पार्टी रीति निती के खिलाफ मनमाना तरीक से दिनांक 02.09.2020 व दिनांक 05.09.2020 आदेश के द्वारा स्कूलो मे उर्दु शिक्षा को बन्द करने के आदेश जारी करने वाले श्री सोरभ स्वामी निदेशक प्रारम्भिक शिक्षा राजस्थान बीकानेर को हटाकर पदस्थापन प्रतिक्षा मे रखा जावे तथा मामले की उच्च स्तरिय जांच करवाया जाकर श्री सोरभ स्वामी को यथा शिघ्र निलम्बित किया जावे।

एन.डी. कादारी ने बातया कि राजस्थान संचालित पंजिकृत मदरसों में लगभग 5760 पैराटिचर्स पिछले 20 वर्षो से अपनी सेवाएंे दे रहे है। लेकिन इनको आज तक नियमित नही किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त राज्य मंे संचालित राजकीय विधालयों में काफी विधालय ऐसे है जहां अल्पसंख्यक वर्ग के छात्र अध्ययनरत है किन्तु इन विधालयों मे उर्दु विषय के पद स्वीकृत नही है तथा जहां स्वीकृत है वहां से भी उर्दु सहित अन्य तृतीय भाषा (उर्दु, सिन्धी, गुजराती, पंजाबी) खत्म करने के आदेश जारी किये गये जो कि पूर्णतया अल्पसंख्यक समुदाय के लिये न्याय संगत नही है तथा इस कांग्रेस सरकार द्वारा पैराटिचर्स को नियमित करने का घोषणा पत्र में शामिल है इस कारण मुस्लिम समुदाय में काफी रोष है।

एन.डी. कादारी ने बताया कि उपरोक्त मांगो के सम्बध में चूरू जिले के श्री समशेर भालू खां वे मूल रूप से उर्दु विषय के शिक्षक है जो उर्दु बचाओ संघर्ष समिति के तहत चूरू से दाण्डी गुजरात लगभग 20 दिन से यात्रा पर है करीब करीब 700 किलो मीटर की यात्रा कर उदयपुर से आगे पहुच चुके है। शिक्षक समशेर भालू खां स्वास्थ्य की हालत बहुत ही गम्भीर बनी हुई लेकिन सरकार का कोई भी नुमायदा उनसे मिलने नही पहुचां है।

जो लोग अपनी मांगो को लेकर प्रदेश मे उग्र आन्दोलन कर तोड फोड, आगजनी, सरकारी सम्पति को नुकशान पहचाते है, सड़क व रेल मार्ग जाम करते है उनसे मिलने धरना स्थल आदि पर सरकारी मंत्री, विधायक मुख्यमंत्री का सन्देश लेकर पहुच जाते है व मुख्यमंत्री स्वयं भी उनसे वार्ता के लिए अग्रसर रहते है यह दाण्डी यात्रा पूर्णतया शान्तिपूर्ण होने के कारण है कि आज तक सरकारी नुमायदा इनसे मिलने नही पहुचा।
आज शिष्ट मण्डल में राष्ट्रीय सचिव एन.डी. कादारी, जिला कांग्रेस वरिष्ठ उपाध्यक्ष अब्लूद मजिज खोखकर, मोहम्मद हुसेन, जाकरी हुसेन नागोरी, इकरमुदिन लौहार, रिजवान खान, मोहम्मद हक कादरी, सैयद वसीम आदि साथ थे।

Advertisements
Advertisements
Advertisements