शिक्षा मंत्रालय बोर्ड परीक्षाओं की तारीख मंगलवार को कर सकता है घोषित

Advertisements
Advertisements

Advertisements

नई दिल्ली। अगले वर्ष होने वाली 10वीं एवं 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं के कार्यक्रम की जानकारी जल्द ही सार्वजनिक की जाएगी। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक मंगलवार को बोर्ड परीक्षाओं की तिथि को लेकर महत्वपूर्ण घोषणा कर सकते हैं। 22 दिसंबर को केंद्रीय शिक्षा मंत्री देशभर के शिक्षकों के साथ सीधा संवाद स्थापित करेंगे। इस दौरान अगले वर्ष होने वाली बोर्ड परीक्षाओं की तिथियां भी घोषित की जा सकती हैं।

कोविड महामारी के बीच समय पर परीक्षाओं के संचालन के लिए सरकार ने नई पहल की है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने परीक्षाओं के संचालन के पूर्व छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ त्रिस्तरीय संवाद की योजना बनाई है। शिक्षा मंत्री डॉ निशंक तीन अलग अलग तिथियों पर छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों के साथ वेबिनार के जरिए सीधे संवाद कर रहे हैं।
सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन यानी सीबीएसई, बोर्ड की परीक्षाएं ऑनलाइन नहीं होंगी। 2021 में होने वाली यह परीक्षा छात्रों को पहले की तरह कागज-पेन से ही देनी होगी। सीबीएसई अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि बोर्ड परीक्षाओं को ऑनलाइन करवाने का कोई प्रस्ताव ही नहीं है। ये परीक्षाएं बीते वर्षों की तरह सामान्य लिखित रूप में ली जाएंगी। हालांकि इसकी डेट अभी तय नहीं हुई है।
शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक विद्यार्थियों की प्रगति एवं बेहतर भविष्य सुनिश्चित करने के लिए परीक्षाओं का आयोजन बेहद जरूरी है।

इस साल परीक्षाओं के आयोजन को लेकर छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के बीच तमाम तरह की चर्चाएं हो रही है। अबतक कोविड के चलते देशभर के स्कूल कॉलेज पूरी तरह से नहीं खोले जा सके हैं। बोर्ड परीक्षाओं के रजिस्ट्रेशन से लेकर कक्षा संचालन तक सारे कार्य वर्चुअल या ऑनलाइन तरीके से संचालित हो रहे हैं।
इससे पहले निशंक ने कहा, लगातार स्कूल कॉलेज से दूर रह रहे छात्रों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई करना एक बड़ी चुनौती है। लेकिन इस चुनौती को अवसर में बदलने के लिए छात्रों को हमेशा तैयार रहना चाहिए।
उन्होंने कहा, बेहतर संकल्प और इच्छाशक्ति के साथ पढ़ाई और समय पर रिजल्ट जारी करवाना सबसे बड़ी चुनौती है ताकि छात्रों का एक साल बर्बाद न हो। कोरोना नियमों का पालन करते हुए इन परीक्षाओं के आयोजन से छात्रों की योग्यता, विश्वसनीयता और विश्व के किसी भी विश्वविद्यालय में प्रवेश की स्वीकार्यता और बेहतर भविष्य-निर्माण की संभावनाओं के द्वार खुलेंगे।
इस वर्चुअल संवाद के बाद शिक्षा मंत्री राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आयोजित होने वाली परीक्षाओं की समीक्षा करेंगे। इस प्रकार स्वास्थ्य मंत्रालय, गृह मंत्रालय के आदेशों के अनुसार परीक्षाओं के संचालन की विस्तृत योजना बनाई जाएगी। सरकार की पूरी कोशिश होगी कि परीक्षाओं के संचालन में छात्रों का समय बेकार न बर्बाद हो। साथ ही विदेशों में पढ़ाई करने वाले छात्रों को लेकर सरकार पूरी निगरानी रखेगी।

Advertisements
Advertisements

Next Post

ऋण के लिए 31 दिसम्बर तक किए जा सकेंगे आवेदन

Tue Dec 22 , 2020
। बीकानेर@जागरूक जनता । राजस्थान अनुसूचित जाति, जनजाति वित्त एवं विकास सहकारी निगम लिमिटेड बीकानेर द्वारा अनुसूचित जाति, सफाई कर्मचारी वर्ग, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं निशक्तजन वर्ग के व्यक्तियों को निगम कार्यालय से स्वरोजगार एवं विभिन्न योजनाओं में ऋण देने के लिए 31 दिसम्बर तक आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। ऋण लेने के ईच्छुक आवेदक अपनी स्वयं की एस.एस.ओ. आईडी के माध्यम से वेब पार्टल- अनुजा निगम पर स्वयं या ई-मित्र, ई-मित्र प्लस, राजीव गांधी सेवा केन्द्र आदि के माध्यम से आॅन-लाईन आवेदन कर सकते है। इन वर्गों के लिए स्वरोजगार हेतु महिला समृद्धि, लघु साख वित, शिल्प समृद्धि, लघु व्यवसाय ग्रामीण, लघु व्यवसाय शहरी योजना, जीप टैक्सी, सोलर लाईट, डेयरी योजना आदि व्यवसायों हेतु ईच्छुक आवेदक आवेदन कर सकते हैं। इन योजनाओं में प्रार्थी की आय शहरी क्षेत्र में 60 हजार 120  रुपए ग्रामीण क्षेत्र में 54 हजार 300 […]

Other Stories

Jagruk Breaking