राशि अनुसार कर सकते हैं शिवजी की पूजा, मेष राशि के लोग दूध-दही शिवलिंग पर चढ़ाएं, मिथुन राशि के लोग स्फटिक के शिवलिंग की पूजा करें जयपुर। शुक्रवार, 21 फरवरी को महाशिवरात्रि है। इस दिन 11 साल बाद शनि और शुक्र का दुर्लभ योग बन रहा है। पं. अक्षय शास्त्री के अनुसार शिवरात्रि पर शनि अपनी स्वयं की राशि मकर में और शुक्र ग्रह अपनी उच्च राशि मीन में रहेगा। ये एक दुर्लभ योग है, जब ये दोनों बड़े ग्रह शिवरात्रि पर इस स्थिति में रहेंगे। 2020 से पहले 25 फरवरी 1903 को ठीक ऐसा ही योग बना था और […]

आज आधी रात को शनि राशि बदलेगा; कुंभ पर साढ़ेसाती, मिथुन और तुला पर ढैया लगेगी अमावस्या पर खगोलीय घटना भी होगी; शनि, चंद्रमा और पृथ्वी तीनों एक कतार में होंगे ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, ढाई साल तक 12 में से 7 राशियां शनि से पूरी तरह प्रभावित रहेंगी जयपुर। 24 जनवरी को मौनी अमावस्या पर शनि स्वयं की राशि मकर में प्रवेश कर रहा है। ढाई साल तक एक राशि में रहने के बाद करीब हर 30 साल बाद शनि मकर राशि में आ जाता है। मौनी अमावस्या पर ऐसा 382 साल बाद हो रहा है। इससे पहले 26 […]

पिछले 10 साल में 6 बार और 2020 में 4 बार मांद्य चंद्र ग्रहण होंगे 10 जनवरी के ग्रहण में चंद्रमा पर राहु की छाया नहीं पड़ेगी 5 जून, 5 जुलाई और 30 नवंबर को भी मांद्य चंद्र ग्रहण होगा जयपुर। शुक्रवार रात 10:38 बजे मांद्य चंद्र ग्रहण शुरू होगा, इसका मध्य 12:40 बजे और मोक्ष रात में 2:42 बजे होगा। इस ग्रहण का कोई धार्मिक महत्व नहीं है। इस वजह से ग्रहण का सूतक नहीं रहेगा। ग्रहण काल में भी पूजा-पाठ आदि कर्म किए जा सकेंगे। साल 2020 में 4 मांद्य चंद्र ग्रहण होंगे। निर्णय सागर पंचांग के मुताबिक […]

एशिया के कुछ देश, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया में भी ग्रहण देखा गया ग्रहण मुंबई, बेंगलुरु, दिल्ली, चेन्नई, कन्याकुमारी समेत देश के कई शहरों में दिखा; अगला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को होगा सूर्य ग्रहण और धनु राशि में 6 ग्रहों का दुर्लभ योग, अब ऐसा संयोग 559 साल बाद बनेगा गुरुवार को सूर्य, बुध, गुरु, शनि, चंद्र और केतु धनु राशि में रहेंगे, 12 घंटे पहले रात से सूतक लगा ग्रहण के समय करना चाहिए मंत्रों का मानसिक जाप और नकारात्मक विचारों से बचें दशक का आखिरी सूर्य ग्रहण गुरुवार सुबह 8:04 बजे शुरू हुआ। भारत में ग्रहण काल 2:52 […]

ग्रहों के स्थान परिवर्तन करने से विभिन्न राशियों पर उसका अच्छा या बुरा असर पड़ता है। नए साल में तो ग्रहों की चाल जरूर बदलती है। इन ग्रहों के बड़े फेरबदल से राशिओं को अच्छे तो बुरे दोनों तरह के फायदे होते हैं। आने वाले नए साल में शनिदेव साल की शुरुआत में राशि परिवर्तन कर रहे हैं। 24 जनवरी 2020 को शनि धनु राशि को छोड़कर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इससे पहले सितंबर से पूरे 142 दिन बाद धनु राशि में चल रहे शानि देव उल्टी चाल छोड़कर अब सीधी चाल चलना शुरू कर दिया था। इससे कई […]

छठ पूजा उत्सव में शनिवार की शाम और रविवार की सुबह सूर्य को दिया जाएगा विशेष अर्घ्य शनिवार, 2 नवंबर की शाम और रविवार, 3 नवंबर की सुबह सूर्य को विशेष अर्घ्य दिया जाएगा। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि पर छठ पूजा उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव की शुरुआत 31 अक्टूबर से हो गई है और 3 नवंबर की सुबह सूर्य को अर्घ्य देने के बाद छठ पूजा का व्रत पूरा हो जाएगा। ज्योतिषाचार्य पं.अक्षय शास्त्री के अनुसार जानिए छठ पूजा पर सूर्य को प्रसन्न करने के लिए जल चढ़ाने की सही विधि… सुबह जल्दी उठें […]

छठ पूजा वास्तविक रूप में प्रकृति की पूजा है। इस अवसर पर सूर्य भगवान की पूजा होती है, जिन्हें एक मात्र ऐसा भगवान माना जाता है जो प्रत्यक्ष हैं यानी दिखते हैं। अस्तलगामी भगवान सूर्य की पूजा कर यह दिखाने की कोशिश की जाती है कि जिस सूर्य ने दिन भर हमारी जिंदगी को रौशन किया उसके निस्तेज होने पर भी हम उनका नमन करते हैं। छठ पूजा के मौके पर नदियां, तालाब, जलाशयों के किनारे पूजा की जाती है जो सफाई की प्रेरणा देती है। यह पर्व नदियों को प्रदूषण मुक्त बनाने की प्रेरणा देता है। इस पर्व में […]

भविष्य पुराण और पद्म पुराण के अनुसार- इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर अभ्यंग यानी तेल मालिश कर के औषधि स्नान करना चाहिए औषधि स्नान से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती हैं और यम दीपदान करने से अकाल मृत्यु नहीं होती हिंदू कैलेंडर के कार्तिक महीने के कृष्णपक्ष की चतुर्दशी तिथि को रूप चतुर्दशी के रूप में मनाया जाता है। भविष्य पुराण और पद्म पुराण के अनुसार, इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर अभ्यंग यानी तेल मालिश कर के औषधि स्नान करना चाहिए। ऐसा करने से लक्ष्मीजी प्रसन्न होती हैं, स्वास्थ्य सुख मिलता है, उम्र बढ़ती हैं और नरक के भय से […]

जयपुर। धनतेरस पर ब्रह्म सिद्ध महायोग धन वर्षा करेगा। इस साल धनतेरस के दिन शुक्र, प्रदोष और धन त्रयोदशी का महायोग बन रहा है। इस महायोग में शुभ कार्य या खरीदारी समृद्धि देगी। दिवाली का उत्साह शुक्रवार को धनतेरस से चरम पर पहुंच जाएगा। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी के दिन धनतेरस में भगवान कुबेर को प्रसन्न किया जाता है। आचार्य मनोज कुमार द्विवेदी का कहना है कि धनतेरस के दिन से धनतेरस की शुरुआत होगी। इस बार महायोग में खरीदारी खूब फलेगी। मान्यता है कि धनतेरस के दिन ही भगवान धनवंतरि का जन्म हुआ था। ज्योतिषाचार्य अक्षय […]

हिंदू कैलेंडर के अनुसार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ मनाया जाता है। महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रखकर पति की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इस साल करवा चौथ 17 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। ये व्रत गुरुवार सुबह सूर्योदय से शुरू होगा। शाम को चांद निकलने तक रखा जाएगा। शाम को चंद्रमा के दर्शन करके अर्घ्य अर्पित करने के बाद पति के हाथ से पानी पीकर महिलाएं व्रत खोलेंगी। इस दिन चतुर्थी माता और गणेशजी की भी पूजा की जाती है। इस बार करवा चाैथ पर ग्रहों की स्थिति भी खास है। […]

कड़ी मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिल रही हो तो इसका कारण दुर्भाग्य या हमारे आसपास मौजूद नकारात्मक ऊर्जा हो सकती है। नकारात्मक ऊर्जा दूर करने के लिए बच्चों से दान कराएं। इससे घर में समृद्धि आएगी। सफलता के लिए मेहनत जितनी जरूरी है उतना ही भाग्य का साथ मिलना भी आवश्यक है। अगर मेहनत और भाग्य एक साथ मिल जाएं तो सफलता मिलना निश्चित है। वास्तु में कुछ आसान से उपाय बताए गए हैं, जिन्हें अपनाकर हम अपने जीवन से दुर्भाग्य को दूर कर सकते हैं। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में। सुबह उठें तो सबसे […]

शरद पूर्णिमा पर रविवार को चंद्रमा से अमृत बरसेगा। पूर्णिमा और उत्तराभाद्र पद नक्षत्र के संयोग विशेष फलदायी होंगे। घरों में पूजा होगी। छत पर रात भर खीर रखकर सुबह प्रसाद बांटा जाएगा। शरद पूर्णिमा के साथ दिवाली की धूम मच जाएगी। शरद पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी की भी पूजा होती है। ऐसी मान्यता है कि माता लक्ष्मी रात्रि में विचरण करती है और भक्तों पर धन-धान्य से पूर्ण करती है। इस दिन रात भर जाग कर मां लक्ष्मी के भजन करने चाहिए। कहते हैं मां लक्ष्मी इस दिन रात में जगने और मां लक्ष्मी के अराधना करने वालों […]

शरद पूर्णिमा 2019 के दिन चंद्रमा 13 अक्टूबर यानी कल सोलह कलाओं से परिपूर्ण होकर अमृत बरसाएगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्रमा साल भर में शरद पूर्णिमा की तिथि को ही अपनी षोडश कलाओं को धारण करता है। इस दिन महिलाएं व्रत रखकर महालक्ष्मी, गणेश की पूजा-अर्चना करेंगी। शरद पूर्णिमा पर पूरा चंद्रमा दिखाई देने के कारण इसे महापूर्णिमा भी कहा गया है। जागरूक जनता के ज्योतिषकार पं. अक्षय शास्त्री ने बताया कि आश्विन शरद पूर्णिमा वाले दिन चंद्रमा 16 कलाओं से परिपूर्ण होता है। महिलाएं माता लक्ष्मी, चंद्रमा और देवराज इंद्र की पूजा रात्रि के समय करेंगी। शरद पूर्णिमा […]

शारदीय नवरात्रा प्रारंभ होने के पूर्व लोगों के दिलों में यह जिज्ञासा बनी रहती हैं कि मां दुर्गा अपने पूरे परिवार के साथ किस वाहन पर सवार होकर आएगी ओर किस वाहन से वापस लौटेंगी। ज्योतिषशास्त्र में मां दुर्गा के आगमन एवं प्रस्थान के वाहन से ही आगामी वर्ष के अच्छे बुरे फल का अंदाज लगाया जाता हैं। जयपुर। शारदीय नवरात्र ( shardiya navratra ) प्रारंभ होने के पूर्व लोगों के दिलों में यह जिज्ञासा बनी रहती हैं कि मां दुर्गा अपने पूरे परिवार के साथ किस वाहन पर सवार होकर आएगी ओर किस वाहन से वापस लौटेंगी। ज्योतिषशास्त्र में […]

क्या स्त्रियां भी कर सकती हैं पिंडदान आइए जानते हैं पंडित अतुल शास्त्री से पुत्राभावे वधु कूर्यात, भार्याभावे च सोदन:। शिष्‍यों वा ब्राह्म्‍ण: सपिण्‍डो वा समाचरेत।। ज्‍येष्‍ठस्‍य वा कनिष्‍ठस्‍य भ्रातृ: पुत्रश्‍च: पौत्रके। श्राध्‍यामात्रदिकम कार्य पुत्रहीनेत खग: पुत्र की अनुपस्थिति में कौन कर सकता है श्राद्ध हिन्दू धर्म में मरणोपरांत संस्कारों को पूरा करने के लिए पुत्र का स्थान सर्वोपरि माना जाता है। शास्त्रों में भी इस बात की पुष्टि की गई है, कि नरक से मुक्ति, पुत्र द्वारा ही मिलती है। अत: पुत्र को ही श्राद्ध, पिंडदान करना चाहिए। यही कारण है कि नरक से रक्षा करने वाले पुत्र की […]

Breaking News

error

Jagruk Janta