नई दिल्ली। रामायण की थीम पर ‘श्री रामायण एक्‍सप्रेस’ ट्रेन चलाई जाएगी। आईआरसीटीसी के अनुसार ये ट्रेन भगवान राम से जुड़े स्थलों की तीर्थ यात्रा कराएगी। 16 रातों-17 दिनों की यात्रा कराने वाली इस ट्रेन की शुरुआत 28 मार्च से दिल्ली से होगी। इस ट्रेन में 10 कोच होंगे, इनमें से पांच स्लीपर क्लास के गैर-वातानूकूलित (नॉन एसी) कोच और पांच एसी के थ्री टीयर कोच होंगे। ट्रेन में बुकिंग पहले आओ पहले पाओ के अनुसार होगी। इस टूर पैकेज से जुड़ी खास बातें… इन तीर्थ स्‍थलों की कर सकेंगे यात्रा ‘श्री रामायण एक्‍सप्रेस’ की यात्रा में अयोध्या में राम […]

अदालत में फैसले की तारीख के ऐलान से लेकर ट्रस्ट का गठन और बैठक इसी तिथि को हुई 19 फरवरी को राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की पहली बैठक के दिन विजया एकादशी थी संतों की राय- 4 अप्रैल को कामदा एकादशी पर मंदिर निर्माण का मुहूर्त किया जाए नई दिल्ली. राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए ट्रस्ट की पहली बैठक बुधवार को राम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रमुख के पाराशरण के घर पर हुई। यह बैठक विजया एकादशी (19 फरवरी) के दिन हुई। यह भी संयोग ही है कि सुप्रीम कोर्ट ने देव प्रबोधिनी एकादशी (8 नवंबर) को राम मंदिर […]

संसद को संबोधित करने की परंपरा ब्रिटेन से आई है, ब्रिटेन में 16वीं सदी में वहां के राजा या रानी संसद को संबोधित करते थे संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप बताते हैं- ब्रिटेन में पहले किंग या क्वीन सेशन बुलाने का कारण बताते थे, बाद में भाषण में सरकार की उपलब्धियां, नीतियां भी बताई जाने लगीं भारत में 1921 से सदन को संबोधित किया जा रहा है, आजादी से पहले वायसराय या गवर्नर जनरल सदन को संबोधित करते थे, 1950 से राष्ट्रपति अभिभाषण देने लगे संविधान के आर्टिकल 87 (1) में राष्ट्रपति के अभिभाषण देने का प्रावधान है, इस आर्टिकल के […]

ट्रेनों में ऑन डिमांड कंटेंट की मुफ्त सुविधा अप्रैल से, यात्रियों के डिवाइस अपने आप हॉटस्पॉट से जुड़ेंगे ट्रेनों में अब फॉग विजन डिवाइस लगेंगे, इससे सर्दियों में कोहरे के दौरान भी दूर तक दिखेगा अभी इस डिवाइस का ट्रायल जारी, 20 जनवरी के बाद इसे 25 ट्रेनों के इंजन में लगाया जाएगा नई दिल्ली. राजधानी, शताब्दी और दूरंताे जैसी प्रीमियम ट्रेनाें में सफर में यात्री मनपसंद फिल्म देख और गाने सुन सकेंगे। ट्रेनों में ऑन डिमांड कंटेंट की सुविधा अप्रैल से मिलेगी। यह सेवा मुफ्त रहेगी। रेलवे विज्ञापनाें के जरिए इससे कमाई भी करेगा। दूसरी तरफ सर्दी में घने […]

इस परिवार का दावा है कि भगत सिंह और उनके साथियों को इन्हीं के परिवार ने फांसी दी कहा-सुना जाता रहा है कि जल्लाद निष्ठुर-क्रूर होता है. जल्लाद के सीने में लोहे का दिल होता है. फांसी देते वक्त जल्लाद शराब के नशे में धुत होता है. वरना जीते-जागते सामने खड़े इंसान को भला फंदे पर कौन और कैसे लटका सकता है? यह भ्रांतियां और मनगढ़ंत किस्से-कहानियों से ज्यादा कुछ नहीं है. सच जानने के लिए आइए झांकते हैं हिंदुस्तान के इकलौते जीवित बचे उस खानदानी जल्लाद पवन के जेहन में करीब से…जिन्हें ‘जल्लादी’ उनके परदादा, दादा और पिता धरोहर […]

नई दिल्ली। देश ने जहां कई नामी गिरामी योद्धा दिए हैं वहीं ये धरती वीरांगनाओं से भी खाली नहीं रही है। जब भी भारतीय वीरांगनाओं के बारे में कोई चर्चा की जाती है तो उसमें झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का नाम सबसे पहले आता है। उन्हें भारत की सबसे बड़ी वीरांगना माना जाता है। रानी लक्ष्मीबाई ही वो महिला थीं जिन्होंने अंग्रेजों का डटकर मुकाबला किया था। बहुत ही कम लोग हैं जो ये जानते हो कि रानी लक्ष्मीबाई के अलावा देश में एक और भी वीरांगना रहीं हैं जिनका नाम झलकारी बाई था। झलकारी बाई का नाम रानी लक्ष्मीबाई […]

ग्रीन वॉल का मकसद बढ़ते रेगिस्तान को रोकना है, प्रोजेक्ट पर केंद्र सरकार की मंजूरी मिलना अभी बाकी इस प्रोजेक्ट से करीब 2.6 करोड़ हेक्टयेर जमीन को प्रदूषण मुक्त किया जा सकेगा पोरबंदर से पानीपत तक बनने वाली इस ग्रीन बेल्ट से वन क्षेत्र में सुधार होगा नई दिल्ली. गुजरात से राजस्थान होते हुए दिल्ली-हरियाणा की सीमा तक 1400 किलोमीटर लंबी और 5 किमी चौड़ी ग्रीन वॉल बनेगी। केंद्र सरकार देश में पर्यावरण बचाने के लिए और हरित क्षेत्र को बढ़ाने के लिए इस पर विचार कर रही है। अफ्रीका में भी जलवायु परिवर्तन और बढ़ते रेगिस्तान से छुटकारा पाने […]

बापू की पड़पोती कस्तूरी के मुताबिक- बापू का दर्शन आज भी पूरी तरह से प्रासंगिक, दुनियाभर के आंदोलनों में जीवंत पड़पोते विवान ने कहा- देश में गांधीजी के सिद्धांतों के बारे में पढ़ाया तो जाता है, लेकिन उन्हें जिंदगी में उतारने का काम कितने लोग कर रहे हैं जागरूक जानकारी : 2 अक्टूबर को देश महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहा है। बापू ने जो सिद्धांत दिए, जो बातें कहीं, वे आज भी उतनी ही प्रासंगिक लगती हैं, जितनी पहले थीं।150वीं जयंती के मौके पर हमने बापू के परिवार के दो युवा सदस्यों बापू के पड़पोते विवान गांधी और […]

कौन किस भाषा में बोलता और लिखता है, यह मोटे तौर पर इस बात पर निर्भर करता है कि उस व्यक्ति का जन्म कहां हुआ है। दूसरी ओर, मातृभाषा के अतिरिक्त किसी अन्य भाषा को सीखने की आवश्यकता इस बात पर निर्भर है कि किस देश का प्रभुत्व दुनिया में ज्यादा है। जिस देश का प्रभुत्व होगा वहां की भाषा भी दुनिया सीखेगी। इतिहास और वर्तमान इस बात के साक्षी हैं कि शक्तिशाली लोगों की मातृभाषा विश्व स्तर पर सीखी, बोली और लिखी जाएगी और लिंग्वा फ्रांका बनेगी। लिंग्वा फ्रांका का अर्थ है- इस्तेमाल में ली जाने वाली वो सबसे […]

Rajiv Gandhi ने दोस्‍त अमिताभ से साझा की सबसे बड़ी समस्‍या अमिताभ ने रखा अपने घर पर शादी का प्रस्‍ताव लंबे लव अफेयर के बाद राजीव गांधी ने की सोनिया से शादी नई दिल्‍ली। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ( Rajiv Gandhi ) की आज 75वीं जयंती है। राजीव गांधी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पर सोनिया गांधी, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रियंका गांधी वाड्रा, राबर्ट वाड्रा समेत कांग्रेस के अन्‍य नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी। राजीव गांधी की जयंती को देश भर में कांग्रेस का मना रहे […]

भारत अनेकता में एकता का एक उत्तम उदाहरण है। यहाँ भांति भांति के लोग एवं भाषाएँ हैं जो कई राज्यों में विभाजित हैं। क्या कभी आपने सोचा है भारतीय राज्यों के नाम कैसे और क्यों मिला? चलिए आज हम विस्तारपूर्वक आपको इन राज्यों के नाम का अर्थ समझते हैं। भारतीय राज्यों के नाम कैसे रखे गये? आंध्र प्रदेश – इस राज्य का नाम “दक्षिण प्रदेश” की भाषा को वहां की छेत्रिय भाषा में परिवर्तित करके रखा गया। अरुणाचल प्रदेश – इस राज्य का नाम संस्कृत के शब्द “अरुणाचल” जिसका अर्थ होता है “पहाड़ों की ज्योतिर्मय सुबह” पर रखा गया क्योंकि […]

Breaking News

error

Jagruk Janta