नई दिल्ली। वरिष्ठ डिजिटल पत्रकार दयाशंकर मिश्र की लोकप्रिय वेबसीरीज ‘डियर जिंदगी- जीवन संवाद’ (Dear Zindagi-Jeevan Samvad) एक किताब के रूप में मार्केट में दस्तक दे चुकी है। यह सीरीज ‘डिप्रेशन और आत्महत्या के विरुद्ध’ जीवन संवाद पर आधारित है। ‘जीवन संवाद’ का लोकार्पण रविवार को नई दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में किया गया। इस सीरीज के अंतर्गत अब तक 600 से अधिक आर्टिकल लिख चुके हैं, जिसे एक करोड़ से अधिक बार डिजिटल माध्यम में पढ़ा जा चुका है। इनमें से से चुनिंदा 64 लेखों को पुस्तक में शामिल किया गया है। लोकार्पण समारोह के दौरान किताब का […]

सफलता पाने के लिए जरुरी है मानसिक शांति, इन 5 बातों से रख सकते हैं मन शांत जीवन में सफलता हासिल करने के लिए बहुत जरुरी है मानसिक शांति, इसके बिना आप किसी भी चीज पर फोकस नहीं कर सकते। आप कितनी भी रणनीतियां बना लें लेकिन जब तक आपका मन शांत नहीं रहेगा, आप अपना सौ प्रतिशत किसी भी काम को नहीं दे पाएंगे। आइए, जानते हैं कैसे पाएं मानसिक शांति- मानवता बनाएं रखें हमारे धर्मग्रंथों में काम, क्रोध, मद, लोभ, मोह को बड़ी मानवीय दुर्बलता की श्रेणी में रखा गया है। ज्य़ादातर लोग ऐसी कामनाओं से प्रेरित होकर […]

अजय साहनी, आंतरिक सुरक्षा विशेषज्ञ पड़ोसी देश की जमीन पर पल रहे दाऊद इब्राहीम, मसूद अजहर, जकी-उर रहमान लखवी और हाफिज सईद को भारत सरकार ने अब गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून के तहत आतंकी घोषित कर दिया है। ये सभी अपराधी भारत में कई आतंकी हमलों के सूत्रधार रहे हैं। कानून में इस प्रावधान से निश्चय ही कुछ बदलाव सामने आएंगे। पहला तो यही कि आतंकवाद-विरोधी अभियानों में जो एजेंसियां शामिल हैं, उन्हें एक दिशा मिलेगी। उनका लक्ष्य अब और अधिक स्पष्ट होगा। दूसरा बदलाव यह होगा कि अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं में यह कवायद हमारे लिए एक कूटनीतिक हथियार साबित हो […]

गौहर रजा, पूर्व मुख्य वैज्ञानिक, सीएसआईआर देश के आम लोगों के लिए चंद्रयान-2 अभियान कितना महत्व रखता है? रॉकेट, सैटेलाइट, ऑर्बिटर, लैंडर या रोवर जैसे शब्द उसके जीवन में शामिल ही कब रहे हैं। मगर इस सवाल का जवाब ढूंढ़ने से पहले यह समझना ज्यादा जरूरी है कि जिस देश की संपदा ब्रिटिश साम्राज्यवाद ने निचोड़ ली थी, उसने आजादी मिलते ही अंतरिक्ष विज्ञान की ओर बढ़ने का फैसला क्यों किया? भारत जब आजाद हुआ था, तब वह भुखमरी और बेरोजगारी से तो लड़ ही रहा था, यहां की 70 फीसदी से ज्यादा आबादी अनपढ़ लोगों की थी। मगर उस […]

किसी बीमारी के इलाज की खोज में दशकों तक विविधप्राणियों पर क्लिनिकल ट्रायल किए जाते हैं। हर असफल क्लिनिकल ट्रायल में जीवों की जान जाती है। जीव अकसर लिवर पर हुए किसी विशेष दवा के असर से मरते हैं। युवा वैज्ञानिक अरुण चंद्रू और उनके साथियों ने मिल कर ऐसी कृत्रिम कोशिकाएं बनाने में कामयाबी हासिल की है, जो हमारे लिवर की तरह काम करती हैं। इससे हम दवाइयों की खोज में जीवों पर की जाने वाली क्रूरता को खत्म करने में समर्थ होंगे और प्रयोगों के लिएउन पर निर्भरता भी कम होगी। अरुण चंद्रू बैंगलुरु के स्टार्टअप पेंडोरम टेक्नोलॉजी […]

एकीकृत जिला शिक्षा प्रणाली सूचना की साल 2017-19 की रिपोर्ट के अनुसार देश के केवल 63.14 प्रतिशत स्कूलों में बिजली मौजूद थी, जबकि बाकी स्कूलों में बिजली नहीं थी. नई दिल्ली: देश के सभी गांव तक बिजली जरूर पहुंचा दी गई हो लेकिन भारत के करीब 37 प्रतिशत स्‍कूलों में आज भी बिजली उपलब्ध नहीं है. एकीकृत जिला शिक्षा प्रणाली सूचना (यूडीआईएसई) की साल 2017-19 की रिपोर्ट के अनुसार, ‘देश के केवल 63.14 स्कूलों में बिजली मौजूद थी, जबकि बाकी स्कूलों में बिजली नहीं थी.’ इस विषय पर मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का कहना है कि ‘दीन […]

एक जुलाई से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा डेढ़ महीने तक चलेगी अनंतनाग में खननबल चौक के एक कोने में सालों से रोज़ शाम कुछ रेहड़ी वाले पकौड़े और टिक्के बेचकर अपने-अपने घर चलाते थे. हाल ही में उन्हें वहां से हटा दिया गया है. वहां पर सुरक्षा बलों ने एक बंकर बनाया है. यह बंकर ऐसे 100 से अधिक बंकरों में से एक है, जो पिछले लगभग 15 दिन में घाटी की अलग-अलग जगहों पर अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं. दिलचस्प बात यह है कि ये बंकर एक जुलाई से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा […]

error

Jagruk Janta